बिहार : भोजपुर के कुख्यात फौजी की सारण में धारदार हथियार से हत्या

0

टना के मनेर, बिहटा और भोजपुर समेत पूरे दियारे का आतंक कुख्यात शंकर दयाल सिंह उर्फ फौजी की सारण में हत्या कर दी गयी। शनिवार की देर रात धारदार हथियार से उसकी गर्दन व चेहरे को काट दिया गया। उसका शव रविवार की सुबह सारण के रिविलगंज दियारा इलाके के सिधियरी मौजा स्थित गेहूं के एक खेत से बरामद किया गया। उसकी हत्या की सूचना से भोजपुर, सारण व पटना के दियारे इलाके में सनसनी मच गयी। सूचना मिलते ही भोजपुर के बड़हरा थाने की पुलिस मौके पर पहुंच गयी। बाद में रिविलगंज पुलिस भी पहुंची और शव पोस्टमार्टम के लिए भेजा। आरा सदर अस्पताल में उसके शव का पोस्टमार्टम कराया गया।

शंकर दयाल सिंह उर्फ फौजी भोजपुर के बड़हरा थाना क्षेत्र के फरना गांव का रहने वाला था। उसकी पत्नी पंचायत समिति सदस्य रह चुकी है। वह खुद भी मुखिया का चुनाव लड़ा था। करीब दो दशक पहले एके 47 जैसे आधुनिक हथियार लेकर वह फौज से भाग गया था। उसके खिलाफ भोजपुर व पटना में करीब दर्जनभर मामले दर्ज हैं। इसमें हत्या, लूट, अपहरण व रंगदारी के मामले शामिल हैं। बालू को लेकर भी उसकी बिहटा के एक गैंग से अदावत चल रही थी। भोजपुर व पटना पुलिस काफी दिनों से उसकी तलाश कर रही थी। वर्चस्व की लड़ाई में उसकी हत्या की बात सामने आ रही है। इस मामले में उसके बेटे नीरज कुमार सिंह के फर्दबयान पर नामजद प्राथमिकी दर्ज करायी गयी है। इनमें भोजपुर, सारण व पटना जिले के 10 लोगों को आरोपित किया गया है। सारण एसपी हरिकिशोर राय ने बताया कि रिविलगंज के दियारा व भोजपुर के सीमावर्ती इलाके में घटना को अंजाम दिया गया है। मामले की छानबीन की जा रही है। घटना में शामिल अपराधियों की गिरफ्तारी की धरपकड़ के लिए छापेमारी की जा रही है। इसमें भोजपुर पुलिस की भी मदद ली जा रही है।

गेहूं की कटनी कराने गये थे बाप-बेटे, तभी कर दी गयी हत्या
बेटे नीरज कुमार सिंह के मुताबिक, शनिवार की रात वह अपने पिता शंकर दयाल सिंह उर्फ फौजी के साथ रिविलगंज के सिधियरी मौजा में गेहूं की कटनी करा रहा था। रात करीब 11 बजे 10 लोग धारदार हथियार व राइफल के साथ खेत में आ धमके। इस दौरान धारदार हथियार से उसके पिता की गर्दन व चेहरे पर लगातार वार किया गया। इसमें उसके पिता की मौत हो गयी। वहीं इस मंजर को देख डर के मारे वह थोड़ी दूरी पर गेहूं के खेत में छिप गया। हमलावरों के भाग जाने के बाद किसी तरह अपने घर पहुंचा। इसके बाद रविवार की सुबह बड़हारा थाने को सूचना दी। सूचना पर बड़हरा के थानेदार प्रशांत कुमार दल-बल के साथ मौके पर पहुंचे और छानबीन शुरू कर दी।

पूरी रात गेहूं के खेत में ही पड़ा रहा शव
कभी दियारा का आतंक माने जाने वाले फौजी की दियारे में ही बेरहमी से हत्या कर दी गयी। उसका शव गेहूं के खेत में पूरी रात पड़ा रहा। सूत्रों के अनुसार, खेत के बगल में गेहूं के ढेर के पास फौजी की हत्या की गई। उसके बाद उसके शव को घसीटकर कुछ दूर खेत में फेंक दिया गया। घटनास्थल पर गेहूं के ढेर के पास से खून सने कपड़े व बिछावन भी मिले हैं।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here