एक्सिस बैंक की हिस्सेदारी बिक्री से 5,316 करोड़ रुपये जुटाना चाहती है सरकार

0
सरकार अपने विनिवेश कार्यक्रम के हिस्से के रूप में एक्सिस बैंक में अपनी हिस्सेदारी बेचकर 5,316 करोड़ रुपये जुटाना चाहती है

नई दिल्ली। निजी क्षेत्र के एक्सिस बैंक में सरकार अपनी हिस्सेदारी बिक्री प्रक्रिया मंगलवार से शुरू करेगी। सरकार बैंक में ‘स्पेसिफाइड अंडरटेकिंग ऑफ द यूनाइटेड ट्रस्ट ऑफ इंडिया’ (SUUTI) के माध्यम से रखी गई अपनी हिस्सेदारी बेचेगी। यह जानकारी फाइलिंग के मुताबिक सामने आई है। सरकार की कोशिश 5,316 करोड़ रुपये जुटाने की है।

सरकार बैंक में तीन फीसद हिस्सेदारी की बिक्री पेशकश दो दिनों के लिए करेगी जिसकी शुरुआत 12 जनवरी से होगी। यह सरकार के विनिवेश कार्यक्रम का हिस्सा है, जिसके अंतर्गत चालू वित्त वर्ष में 80,000 करोड़ रुपये जुटाए जाने हैं। एक्सिस बैंक ने बताया, “एसयूयूटीआई ने 12 फरवरी को एक्सिस बैंक के 5,07,59,949 इक्विटी शेयरों के बिक्री की पेशकश की है।”

शेयरों की इस बिक्री के लिए आधार मूल्य 689.52 रुपये प्रति शेयर रखा गया है। यह बीएसई पर सोमवार को एक्सिस बैंक के प्रति शेयर 710.35 रुपये के बंद भाव से कम है। एक्सिस बैंक की प्रमोटर इकाई एसयूयूटीआई द्वारा रखे गए शेयरों को बिक्री के लिए रखा जाएगा। यह सेल मंगलवार को नॉन रिटेल इन्वेस्टर्स के लिए खोली जाएगी और बुधवार को खुदरा निवेशक (रिटेल इन्वेस्टर्स) इसके लिए बोली लगा सकते हैं।

फाइलिंग के मुताबिक सरकार ने अधिक अभिदान की स्थिति में 2,63,37,187 अतिरिक्त शेयरों की बिक्री का भी विकल्प रखा है। जानकारी के लिए आपको बता दें कि एसयूयूटीआई, एक्सिस बैंक की प्रवर्तकों में से एक है। एसयूयूटीआई का गठन अब बंद हो चुकी यूनिट ट्रस्ट ऑफ इंडिया की परिसंपत्तियों और देनदारियों का अधिग्रहण करने के लिए किया गया था। एक्सिस बैंक में इसकी 9.56 फीसद हिस्सेदारी है। गौरतलब है कि चालू वित्त वर्ष के 10 महीनों में, सीपीएसई में हिस्सेदारी बिक्री के माध्यम से 36,000 करोड़ रुपये जुटाए गए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here