बेगूसराय का लाल कैसर रेहान इंटरनेशनल ओपन तायक्योंडो साउथ कोरिया में भारत की ओर से करेंगे प्रतिनिधित्व

0
Begusarai News

खेल सम्मान पुरुषकार बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम माझी से भी सम्मानित हुए .

बेगूसराय: जी-वन इवेंट कीमुन्योंग कप इंटरनेशनल ओपन तायक्योंडो सियोल साउथ कोरिया में आयोजित की गई है जो 11 अगस्त से 15 अगस्त तक खेला जाएगा इस चैंपियनशिप में भारत की ओर से बिहार के जिला बेगूसराय के एक छोटे से गांव नींगा के रहने वाले कैसर रेहान प्रतिनिधित्व करेंगे. कैसर रेहान ने तायक्योंडो खेल की शुरुआत 2009 में बेगूसराय रिफाइनरी टाउनशिप के कल्याण केंद्र तायक्वोंडो एकेडमी से शुरुआत की थी. उनके पिता एक सरकारी स्कूल के शिक्षक थे जो अब अवकाश प्राप्त कर चुके है. कैसर रेहान ने तायक्योंडो सीखने का उद्देश्य खुद को मजबूत करना और सेल्फ डिफेंस था. धीरे-धीरे जुनून बढ़ता गया और उनके प्रतिभा निखरती गई और कोच नंदू कुमार मणिकांत के देखरेख में अपनी अभ्यास को लगातार मेहनत के दम पर निखारते चले गए इसी क्रम में

जिला स्तरीय राज्य स्तरीय राष्ट्रीय स्तरीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तरीय प्रतियोगिता में भाग लेने का मौका प्राप्त हुआ लगातार जिला स्तरीय मैचों में गोल्ड राज्य स्तरीय मैचों में गोल्ड सिल्वर राष्ट्रीय स्तर पर हरियाणा में ब्रोंज मुंबई में सिल्वर यूपी में गोल्ड दिल्ली में सिल्वर पदक जीता. अंतरराष्ट्रीय स्तर पर नेपाल में सिल्वर थाईलैंड में ब्रॉन्ज मेडल जीत कर अपने जिला राज्य और देश को गौरवान्वित किया और कई प्रतियोगिता में भाग लेकर अपना लोहा मनवाया.
कड़ी मेहनत के दम पे दिल्ली अकैडमी का रूख किया और अच्छी ट्रेनिंग करने का अवसर प्राप्त हुआ उसी स्वरूप दक्षिण कोरिया में आयोजित अंतर्राष्ट्रीय चैंपियनशिप में भाग लेने का अवसर प्राप्त हुआ. कई बार जिला प्रशासन और गणमान्य लोगों से सम्मानित किया गया इसी कड़ी में खेल सम्मान पुरुषकार बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से सम्मानित होने का मौका मिला. बिहार सीएम जीतन राम मांझी से भी सम्मानित होने का मौका मिला.

मगर सरकारी मदद खेल के नाम पे अब तक कुछ भी नहीं मिला. फ़ैमिली  में कुछ भी नहीं था अब थोड़ी बहुत मदद मिल जाती है.और कैसर रेहान कहा कि आज जो भी ताइक्वांडो में हूँ जिस मुकाम पर हू उसमे मेरी माँ ओर मेरे सबसे अजीज मकसूद भाई का हाथ है और टूटे हुए पल में हमेशा ये दोनों हर सपोर्ट के साथ रहे हैं इन दोनों के बिना मेरी गेम आधुरी है. मेरी बचपन की शिक्षा गाँव में हुई दसवी ज्ञान भारती हाई स्कूल बेगूसराय से हुई और स्नातक एस बी एस एस कॉलेज बेगूसराय हुई.और इस चैंपियनशिप के लिए डॉ. कन्हैया कुमार, कमल वत्स, प्रिंस कुमार, चंदन मिश्रा, अमीन हमजा, शंभू देवा, सजग सिंह, शिव प्रकाश भरद्वाज, मोहन कुमार,अमरनाथ बाबू, इशू वत्स, नूर आलम और राजेश कुमार आदी के सहयोग से जाने का अवसर प्राप्त हुआ जिनका मै धन्यवाद देना चाहता हूँ.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here