ट्रेड यूनियन की हड़ताल के आखिरी दिन पटना में दिखा व्यापक असर :समर्थन में उतरा विपक्ष

0
trade union strike

वामपंथी दलों और कांग्रेस से जुड़े केंद्रीय ट्रेड यूनियन की दो दिवसीय हड़ताल के आखिरी दिन भी राजधानी में व्यापक असर दिखा। हर के प्रमुख चौराहों पर केंद्र सरकार के खिलाफ नारे लगाए जाते रहे। विरोध करने वालों में विभिन्न संगठनों के लोग शामिल रहे। बाढ़ में वाम दलों के कार्यकर्ताओं ने भुनेश्वरी चौक के पास NH- 31 जाम कर दिया। वहीं भाकपा माले और रसोइया संघ ने मार्च निकालकर फतुहा बाजार की दुकानें बंद कराईं।

ट्रेड यूनियनों के अलावा इंटक, आशा कार्यकर्ता, रसोइया संघ के लोग अपनी मांगों को लेकर केंद्रीय कार्यालयों व बैंकों को बंद कराया। यातायात को भी रोका गया। आंदोलनकारियों ने पटना के डाकबंगला चौराहे को जाम कर दिया।

हड़ताल कर रहे कर्मचारियों का कहना है कि केंद्र सरकार मजदूर संगठनों के साथ गलत नीति अपना रही है। सारे सार्वजनिक क्षेत्रों के बैंकों के विलय के कारण रोजगार पर संकट आ जाएगा। बैंकों के लॉस का खामियाजा कर्मचारी क्यों भुगते? मजदूर संगठनों का आरोप है कि सरकार लेबर लॉ को तोड़कर उसमें बदलाव करना चाहती है। इससे हमें काफी नुकसान होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here