ऐतिहासिक घाटे के बाद क्रैश हुआ टाटा मोटर्स का शेयर, 26 सालों बाद इंट्रा डे में सबसे बड़ी गिरावट

0
तीन फरवरी 1993 के बाद यह कंपनी के स्टॉक में आई सबसे बड़ी गिरावट है। शुक्रवार को कंपनी का शेयर 141.90 के निचले स्तर को छू गया। पिछले एक सालों में इसमें 50 फीसद से अधिक की गिरावट आई

नई दिल्ली। चालू वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही में मुनाफे में आई भारी गिरावट के बाद टाटा मोटर्स के शेयरों में भारी गिरावट आई है। शुक्रवार को कंपनी का शेयर 30 फीसद तक लुढ़क गया, जो फरवरी 1993 के बाद से इंट्रा डे के दौरान आई सबसे बड़ी गिरावट है।

दोपहर बाद बीएसई में कंपनी का शेयर करीब 20 फीसद की गिरावट के साथ ट्रेड कर रहा है।

जगुआर लैंड रोवर की परिसंपत्तियों पर किए गए खर्च की वजह से टाटा मोटर्स को अब तक का सबसे बड़ा घाटा हुआ है। दिसंबर तिमाही में टाटा मोटर्स को 26,992.54 करोड़ रुपये का घाटा हुआ है। कंपनी ने 3.10 अरब पॉन्ड की राशि को बट्टा खाते में डाला है।

तीन फरवरी 1993 के बाद यह कंपनी के स्टॉक में आई सबसे बड़ी गिरावट है। शुक्रवार को कंपनी का शेयर 141.90 के निचले स्तर को छू गया। पिछले एक सालों में इसमें 50 फीसद से अधिक की गिरावट आई है।

दिसंबर तिमाही में टाटा मोटर्स के राजस्व में 4.4 फीसदी का इजाफा हुआ है। हालांकि जेएलआर की बिक्री में जुलाई के बाद लगातार गिरावट आई है। दिसंबर तिमाही में कंपनी की बिक्री में सालाना आधार पर 6.4 फीसद की गिरावट आई है। कंपनी की बिक्री पर सबसे ज्यादा असर चीन की खराब बाजार स्थिति का हुआ है।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here