राजद विधायक धरना प्रदर्शन में दिखे तल्ख, शेष बचे प्रखंडों को भी सूखाग्रस्त घोषित करने की मांग

0

ज़ाहिद अनवर (राजु) / दरभंगा

दरभंगा-दरभंगा जिले के सात प्रखंडों को राज्य सरकार की ओर से सूखाग्रस्त घोषित नहीं किये जाने के विरोध में आज राजद की जिला इकाई ने एक दिवसीय धरना दिया। इस मुद्दे पर सड़क से लेकर सदन तक आंदोलन करने का एलान भी किया। धरना का नेतृत्व राजद जिला अध्यक्ष राम नरेश यादव ने किया। इस मौके पर पूर्व केन्द्रीय राज्य मंत्री मो. अली अशरफ फातमी, बहादुरपुर के विधायक भोला यादव, अलीनगर के विधायक अब्दुलबारी सिद्दीकी, दरभंगा ग्रामीण के विधायक ललित यादव और केवटी के विधायक फराज फातमी आदि शामिल थे। विधायकों के तेवर आज काफी तल्ख थे और सरकार को घेरने में कोई कोर कसर छोड़ने का इरादा नही था। राजद नेताओं का शिष्टमंडल जिलाधिकारी डॉ.चंद्रशेखर से मिलकर ज्ञापन सौंपा और 25 अक्टूबर तक शेष बचे प्रखंडों को भी सूखाग्रस्त घोषित करने का अल्टीमेटम दिया। ज्ञापन सौंपने के बाद धरना स्थल पर आये विधायकों ने आरोप लगाया कि डबल इंजन वाली सराकर किसानों के साथ भेद-भाव कर रही है और जिन क्षेत्रों में राजद के विधायक हैं वहां के प्रखंडों को सूखा क्षेत्र घोषित नहीं किया गया है। विधायकों ने सवाल दागते हुए कहा कि क्या इन प्रखंडों में सिर्फ राजद को वोट मिला है, क्या जदयू व भाजपा को वोट नहीं मिला है? विधायकों ने जिलाधिकारी का हवाला देते हुए कहा कि उन्होंने कहा है कि सूखाग्रस्त क्षेत्र घोषित करने में उनसे राय नहीं ली गई। पटना से आई टीम अपना रिपोर्ट सीधे सरकार को दी है। विधायक भोला यादव ने कहा कि बहादुरपुर में बारिश नहीं होने के कारण पेयजल पहुंचाने में 34 टेंकर लगे हुए हैं। जिलाधिकारी स्वयं चार-चार बार इस क्षेत्र का निरीक्षण कर चुके हैं फिर भी सूखाग्रस्त घोषित नहीं करना राजनीति से प्रेरित है। सभी वक्ताओं ने एक स्वर से कहा कि पूरे जिला में एक समान कम बारिश हुई है। ऐसे में भेद-भाव करना कही से उचित नहीं। धरना में पूर्व विधायक हरेकृष्ण यादव, जिप अध्यक्ष गीता देवी, पूर्व महापौर ओम प्रकाश खेड़िया, राशीद जमाल, भोला सहनी, सुनीत रंजन दास, शमशाद रिज़वी, गोपाल मंडल, डॉ.सुभाष महतो, डॉ. मुकेश प्रसाद निराला, राम लखन पासवान, प्रकाश कुमार ज्योति, वरूण महतो, अमरेश यादव, राजेन्द्र यादव, मनोज भारती, राजा पासवान आदि ने भी अपने विचार रखे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here