दीप प्रज्वलित कर सी एम ने किया विधिवत बौद्ध महोत्सव का आगाज

0

गया (बोधगया)–बौद्ध महोत्सव 2019 का सी एम नीतीश कुमार ने दीप प्रज्वलित कर किया उद्घाटन।गया के पावन धरती बोधगया में पर्यटन विभाग और जिला प्रशासन द्वारा आयोजित बौद्ध महोत्सव के उद्घाटन करने आये मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को गया अंतररास्ट्रीय हवाई अड्डे पर बिहार के शिक्षा मंत्री सह प्रभारी मंत्री कृष्णनंदन वर्मा ने पुष्प गुच्छ दे कर किया हार्दिक अभिनंदन।साथ ही इस अवसर पर आयुक्त मगध प्रमंडल सुश्री टी0 इन0 बिंघेस्वरी, डी एम अभिषेक सिंह ने भी पुष्प गुच्छ दे कर स्वागत किया।नितीश कुमार बोधगया पहुंच कर सबसे पहले भगवान बुद्ध को नमन किये और उसके बाद टूरिस्ट असिस्टेंस सेन्टर का किया फीता काट कर किया उद्घाटन।फिर कुछ देर निरीक्षण भवन में आराम करने के बाद पहुचे कालचक्र मैदान।इस महोत्सव की शुरुआत बौद्ध भिक्षुओं द्वारा शांति प्रार्थना के साथ किया गया।इस उदघाटन सत्र के दौरान स्मारिका ‘तथागत’ का लोकार्पण किया गया।बौद्ध महोत्सव पर बनाया गया डॉक्यूमेंट्री को दिखाया गया।मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने महिला ससक्तिकरण को बढ़ावा देने के विचार से जीविका स्वयं सहायता समूह के कुछ महिलाओं को प्रस्सति पत्र,साल व सोलर लैंप भी दिए।नीतीश कुमार ने 365.24 करोड़ रुपये की लागत से बिहार के विभिन्न जगहों पर पूरा हो चुके 59 योजनाओं का उदघाटन और 146 योजनाओं का आधारशिला रिमोट द्वारा किये।इस अवसर पर उन्होंने कहा कि मुझे खुशी हो रही है कि जो सुझाव हमने पिछले बौद्ध महोत्सव में दिया था कि फरवरी महीने में आयोजित होने वाले इस महोत्सव को बोधगया में आयोजित पूजा अवधि में हो जिससे पर्यटकों की संख्या में बढ़ोतरी होगी उस सुझाव को आयोजनकर्ता जिला प्रशासन व पर्यटक विभाग ने पूरा किया।उन्होने कहा कि महोत्सव को अंतरराष्ट्रीय स्वरुप प्रदान करने की कोशिश है हमारी।इस मे बी टी एम सी ने भी बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया है।विभिन्न देशों के कलाकारो व सर्द्धालुओ के आकर्षण का केंद्र है यह महोत्सव।कितने ही देशो ने बौद्ध धर्म को अपनाया है, ऐसे में बोधगया आने की इच्छा सभी को रहती है क्योंकि भगवान बुद्ध की ज्ञानस्थली है ये।महाबोधि मंदिर के सुरक्षा पर उन्होंने कहा कि मंदिर के प्रत्येक पहलू पर ध्यान है मेरा,मंदिर के सुरक्षा और सौदर्यीकरण सभी पर।बोधगया में कई सड़क व रोपवे बनाने की योजना है।कितना बदल गया है बोधगया पहले की अपेक्षा,पहले कुछ ही होटल थे यहा पर अब यहा कई होटल बन गए है और बन भी रहे है।उन्होंने महाबोधि कल्चर सेंटर जो 145 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाला है उस पर काम शुरू हो चुका है, जिसे बिहार दिवस 22 मार्च 2020 तक बन कर तैयार हो जाएगा।इस अवसर पर उन्होंने कहा भगवान बुद्ध के विचारों की निरंतर चर्चा होनी चाहिये जिससे दुनिया मे हो रहे आपसी टकराव से छुटकारा दिलाना है।उन्होंने कहा कि नालंदा विश्वविद्यालय का रिवाईकल में बौद्ध धर्मावलंबियों की सबसे बड़ी भूमिका है।मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सभी को आपस मे प्रेम,भाईचारा बनाये रखने को कहते हुए महोत्सव में उपस्थित सभी लोगो को धन्यवाद दिए।इस महोत्सव में सीएम के साथ शिक्षा मंत्री सह प्रभारी मंत्री कृष्णनंदन वर्मा,पर्यटन विभाग के प्रधान सचिव रवि परमार,बिहार विधान सभा के सदस्य मनोरमा देवी और संजीव श्याम सिंह, सहित कई विधायक भी उनके साथ मंच पर मौजूद थे साथ-ही-साथ आयुक्त मगध प्रमंडल टी0 एन0 बिंघेस्वरी,डी आई जी विनय कुमार,डी एम अभिषेक सिंह सहित जिला के तमाम वरीय पुलिस पदाधिकारी उपस्थित थे।सभी के धन्यवाद ज्ञापन के साथ शुरू हुआ सांस्कृतिक कार्यक्रम का आगाज।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here