डायबिटीज से लेकर कैंसर तक कई बीमारियों के लिए रामबाण है ये फल;जरुर जाने

0
डायबिटीज से लेकर कैंसर तक कई बीमारियों के लिए रामबाण है...

आज अमरूद के बारे में दी जा रही है विशेष……

अमरूद सेहत के लिहाज से एक शानदार फल माना जाता है। अमरूद की तासीर ठंडी होती है। इसका सेवन करने से कब्ज की समस्या दूर हो जाती है।
आयुर्वेद में अमरूद और इसके बीजों के सेवन के कई लाभ गिनाए गए हैं। इसमें मौजूद विटामिन और खनिज शरीर को कई तरह की बीमारियों से बचाने में मददगार होते हैं।

ऐसे गुणकारी पौधे को हम अपने आंगन या घर के आसपास रोप कर पूरे परिवार की सेहत का ध्यान रख सकते हैं। आओ रोपें अच्छे पौधे सीरीज में आज अमरूद के बारे में दी जा रही है विशेष जानकारी।

वास्तु शास्त्र के हिसाब से सर्वश्रेष्ठ

भारतीय संस्कृति में वृक्षों का अपना महत्वपूर्ण स्थान रहा है। जिस भूमि पर अमरूद के वृक्ष बहुत हों वह भूमि वास्तुशास्त्र में बहुत श्रेष्ठ बताई गई है।

जलवायु और मिट्टी

उष्णकटिबंधीय और उपोष्णकटिबंधीय क्षेत्रों में अमरूद सफलतापूर्वक उगाया जाता है, जो समुद्र तल से 1,500 मीटर (4, 9 00 फीट) ऊपर है। भारी मिट्टी से बहुत हल्की रेतीले मिट्टी तक, विभिन्न प्रकार की मिट्टी पर अमरूद की खेती की जाती है। नदी-घाटी में बहुत अच्छी गुणवत्ता वाले अमरूद पैदा होते हैं।

वृक्षों की किस्में

लखनऊ 49

 इसे सरदार भी कहा जाता है। इसके फल आकार में बड़े होते हैं। इसके फले बहुत स्वादिष्ट होते हैं। फल का उपरी हिस्सा हल्का पीला और गूदा सफेद होता है।

इलाहाबाद सफेदा

इसके फल आकार में बड़े और गोल होते हैं। फल का ऊपरी हिस्सा पीले-सफेद रंग का होता है। गूदा सफेद होता है और बीज बहुत कड़े होते हैं।

चिट्टीदार

यह किस्म उत्तर प्रदेश में ज्यादा पाई जाती है। इसका फल कुछ-कुछ इलाहाबाद सफेदा की तरह दिखता है। स्वाद में यह बहुत मीठा होता है और इसके बीज बहुत मुलायम होते हैं। फल की त्वचा में छोटे-छोटे लाल बिंदु होते हैं।

हरिजा
यह किस्म बिहार में अधिक लोकप्रिय है। इसका फल आकार में गोल होता है। इसका आकार मध्यम होता है। हरे-पीले रंग में होता है और स्वादिष्ट होता है।

बड़ा गुणकारी और स्वास्थ्यवर्धक

कैंसर का खतरा कम करता है

कैंसर एक भयानक बीमारी है, लेकिन आप अमरूद खाते हैं, तो आप कैंसर होने की आशंका से बच सकते हैं। इसमें लाइकोपीन, क्वेरसेटिन, विटामिन सी और अन्य तत्व पाए जाते हैं।

ये मानव शरीर में शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट के रूप में काम करते हैं और कैंसर कोशिकाओं के विकास को रोकते हैं। अमरूद प्रोस्टेट कैंसर के खतरे को कम करते हैं और स्तन कैंसर कोशिकाओं के विकास को रोकता है।

प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है

अमरूद में विटामिन सी काफी मात्रा में पाया जाता है। संतरे की तुलना में अमरूद में 4 गुना ज्यादा विटामिन सी पाया जाता है। यह शरीर की इम्यूनिटी को बेहतर बनाने में मदद करता है और संक्रमण के खिलाफ शरीर की रक्षा करता है।

हार्ट को रखता है स्वस्थ

अमरूद शरीर में सोडियम और पोटेशियम का स्तर संतुलित करता है, जिससे हायपर टेंशन वाले रोगियों को ब्लड प्रेशर नियंत्रित रहता है।

अमरूद बैड कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में मदद करता है। अच्छा कोलेस्ट्रॉल हृदय रोग के विकास में योगदान नहीं करता है। कुल मिलाकर अमरूद अपने दिल को स्वस्थ रखता है।

डायबिटीज, कब्ज और मोटापे में कारगर

अमरूद में फाइबर कॉन्टेंट काफी अधिक होता है, जो डायबिटीज के विकास को रोकता है। अमरूद में मौजूद फाइबर से शरीर में शुगर का स्तर नियंत्रित रहता है। इसका फायबर कब्ज को दूर करने में भी मददगार होता है।

अमरूद के बीज पेट साफ करने के लिए अच्छे साबित होते हैं। यह वजन कम करने में भी बेहतरीन साबित होता है क्योंकि इसे खाने से भूख नहीं लगती है और ज्यादा फैट भी नहीं होता है।

वैज्ञानिक नाम सीडियम गुआजावा

विटामिन बी1, बी2, बी3, बी5, बी6, बी 9 के साथ विटामिन सी, विटामिन के की मौजूदगी है।

मिनरल (मिली ग्राम)

18 कैल्शियम

0.26 आयरन

22 मैग्नीशियम

417 पोटैशियम

2 सोडियम

40 फॉस्फोरस

0.23 जिंक

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here