नीतीश सरकार का दलित विरोधी चेहरा हुआ उजागर, विनोद चौधरी की बर्खास्तगी की मांग को लेकर आइसा ने निकला प्रतिवाद मार्च

0

ज़ाहिद अनवर (राजु) / दरभंगा

दरभंगा-दूरस्थ शिक्षा निदेशालय के तृतीय वर्ग के कर्मी प्रमोद कुमार दास पर निदेशालय के डायरेक्टर अरविंद सिंह के समक्ष जदयू के पूर्व विधान पार्षद विनोद चौधरी द्वारा गाली गलौज व मारपीट के खिलाफ, सरदार अरविंद सिंह की बर्खास्तगी, विंनोद चौधरी की बर्खास्तगी व गिरफ्तारी के लिए आज आइसा के बैनर तले प्रतिवाद मार्च निकाला गया। प्रतिवाद मार्च विवि चौरंगी से विवि मुख्यालय होते हुए पूण चौरंगी पहुचा। प्रतिवाद मार्च का नेतृत्व आइसा राज्य सह सचिव संदीप कुमार चौधरी, जिला अध्यक्ष प्रिंस राज, इनौस जिला अध्यक्ष केशरी यादव, अनु. कर्मचारी संघ के जिला उपाध्यक्ष बलराम राम, भीम आर्मी के जिला अध्यक्ष भोला पासवान ने किया। सामाजिक विज्ञान संकाय से विवि प्रतिनिधि मयंक कुमार यादव की अध्यक्षता में आयोजित सभा को संबोधित करते हुए वक्ताओं ने कहा कि लगातार विवि में पदाधिकारी व नेताओ के द्वारा कर्मचारी को अपमानित किया जाता है। जिसका प्रत्यक्ष उदाहरण जदयू के पूर्व विधान पार्षद विंनोद चौधरी जदयू नेता का धौश दिखाकर डिस्टेन्स के कर्मी प्रमोद दास के ऊपर गाली गलौज करते हुए हुए थप्पड़ जड़ दिया। वक्ताओं ने कहा कि एक बार फिर नीतीश कुमार का दलित विरोधी चेहरा उजागर हुआ है। जिसको आने वाले चुनाव में नीतीश कुमार को छात्र-कर्मचारी- शिक्षक एकता बनाकर सबक सिखाने का काम करेंगे। वही वक्ताओं ने मांग किया कि दलित कर्मचारी पर हमला करने वाले पूर्व विधान पार्षद विंनोद चौधरी तथा डिस्टेन्स के डायरेक्टर सरदार अरविंद सिंह की बर्खास्तगी की मांग की। अगर एक सप्ताह के अंदर बर्खास्तगी व गिरफ्तारी नही होती है तो आने वाले समय मे छात्र-कर्मचारी मिलकर आंदोलन करेंगे।
प्रतिवाद मार्च में आइसा जिला सचिव विशाल माझी, जगदम्बा कुमार, उज्जवल कुमार, मोहम्मद तालिब, मोहम्मद शहाबुद्दीन के अलावा अनु.जाति कर्मचारी महासंघ के मीडिया प्रभारी डॉ शिव नारायण पासवान, भीम आर्मी के जिला उपाध्यक्ष राजू पासवान, गोपगुट जिला उपाध्यक्ष गुड्डू पासवान, जोगी पासवान, विककी पासवान, अशोक कुमार यादव सहित दर्जनों लोग शामिल थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here