आइसा जिला कमिटी की बैठक में लिए गए आंदोलनात्मक निर्णय

0

शैक्षणिक अराजकता के खिलाफ तेज होगा छात्र आंदोलन- काँ० मुख्तार

आइसा ही छात्रों का प्रतिनिधि छात्र संगठन- संदीप चौधरी

समस्तीपुर शिक्षा, रोजगार के अलावे सामाजिक बदलाव के लड़ाई का अगुआ दस्ता आइसा रहा है और इस लड़ाई को और तेज किया जाएगा। आज अन्य छात्र संगठन अपने राजनीतिक आका के कहने से छदम आंदोलन चलाकर छात्र को गुमराह करते हैं। ऐसे छात्र संगठन चिन्हित कर छात्र और शिक्षाहित की आंदोलन चलाकर उसे बेनकाब करेगी। आज छात्रो का सबसे बड़ा सबाल शिक्षा और रोजगार का है।उक्त वक्तव्य आइसा राज्य अध्यक्ष काँ० मुख्तार ने बतौर अतिथि बैठक को संबोधित करते हुए कहा। राज्य सह सचिव संदीप चौधरी ने कहा कि मिथिला विश्वविद्यालय की गड़बड़ी से छात्रों का रिजल्ट खराब हो रहा है। वीसी मनमाना तरीका से नये प्रोफेसर को कई महत्वपूर्ण जबाबदेही दे देते हैं। इसका परिणाम छात्रों को भुगतना पड़ता है। इसके खिलाफ विश्वविद्यालय में छात्र आंदोलन तेज किया जाएगा। बैठक की अध्यक्षता जिला अध्यक्ष सुनील कुमार, संचालन जिला सचिव चंदन कुमार बंटी, तथा प्रिति कुमारी, रंगत कुमार, कुंदन यादव, ललित कुमार सहनी, राजू झा, दीपक यादव, मनीषा कुमारी, मनोज कुमार, अमरेश कुमार , मनीष कुमार, जिला प्रभारी सुरेंद्र प्रसाद सिंह समेत अन्य छात्र नेताओं ने बैठक में अपने-अपने विचार व्यक्त किए।
29 अक्टूबर को छात्राओं का राज्य स्तरीय सेमिनार पटना में 15 छात्राओं का भागीदारी दिलाने,24 नवंबर को जिला सम्मेलन करने, 3-4 दिसंबर को बेगुसराय में आइसा का राज्य सम्मेलन करने, संगठन को मजबूत बनाने, काँलेज में सदस्यता अभियान चलाकर काँलेज ईकाई का सम्मेलन करने समेत अन्य निर्णय लिए गए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here