सात निश्चय योजनाओं की जिलाधिकारी ने की समीक्षा, कमीशन लेने वालों पर कार्रवाई की तैयारी

0

ज़ाहिद अनवर (राजु) / दरभंगा

(केवटी) दरभंगा-जिला पदाधिकारी डॉ. चंद्रशेखर सिंह द्वारा केवटी प्रखंड कार्यालय में जनप्रतिनिधियों के साथ प्रधानमंत्री आवास योजना, नल जल योजना तथा शौचालय निर्माण की प्रगति की विस्तृत समीक्षा की। पंचायतवार आवास सहायकों से लक्ष्य के आलोक में आवास की पूर्णता तथा प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय किस्त के भुगतान का ब्योरा लिया। जिलाधिकारी ने छाछा पचाडी पंचायत के आवास सहायक को लाभुकों के पंजीकरण एवं आवास की पूर्णता का लक्ष्य हासिल नहीं करने पर स्पष्टीकरण पूछने का निदेश दिया। जिलाधिकारी ने चेतावनी दी कि किसी भी प्रकार के कमीशन लेने की शिकायत पर कड़ी कार्यवाही की जाएगी। छतौना पंचायत के आवास सहायक द्वारा बताया गया कि 16-17 के 46 लाभुकों द्वारा प्रथम किस्त लेकर भी कार्य प्रारम्भ नहीं किया गया है। कमोबेश हर पंचायत में 25-50 लाभुकों द्वारा प्रथम किस्त लेकर 1 साल से अधिक समय बीत जाने पर भी निर्माण कार्य प्रारंभ नहीं किया गया है। इस पर जिला पदाधिकारी द्वारा स्पष्ट निर्देश सभी आवास सहायकों को दिया गया। ऐसे सभी लाभुकों को लाल नोटिस जारी किया जाय एवं सबसे पुराने 5 पर सरकारी राशि के गबन की प्राथमिकी दर्ज की जाय। प्रत्येक पंचायत में राशि लेकर निर्माण कार्य नहीं प्रारम्भ करने पर 3 माह बीतने पर सफेद नोटिस, इसके बाद लाल नोटिस, फिर नीलाम पत्र वाद एवं 1 साल से अधिक समय बीतने पर प्राथमिकी दर्ज करने का निर्देश दिया। जिलाधिकारी डॉ. सिंह ने स्पष्ट शब्दों में कहा कि अगर छत ढालने का कार्य नहीं करेंगे तो तृतीय किस्ती भी नहीं दी जाएगी एवं बाकी दो किश्त की भी वसूली की जाएगी। उप विकास आयुक्त डॉ. कारी प्रसाद महतो ने कहा कि विभागीय निर्देश के आलोक में आवास सहायकों को मानदेय का भुगतान लक्ष्य प्राप्ति के प्रतिशत के अनुरूप ही किया जाएगा। जिलाधिकारी ने सभी आवास सहायक को योजना की पंजी मेन्टेन करने का निर्देश दिया। जिसमें लाभुक के विवरण, किस्त भुगतान की स्थिति, निर्माण कार्य की स्थिति, विलंब का कारण, नोटिस आदि का ब्योरा समेकित किया जाय। जिलाधिकारी ने यह भी कहा कि जिले के सभी प्रखंड में सबसे अच्छा प्रदर्शन करने वाले प्रथम 3 आवास सहायकों को प्रशस्ति पत्र दिया जायेगा एवं सबसे खराब 3 पर कड़ी कार्यवाही की जाएगी, उन्हें सेवामुक्त करने की भी कार्यवाही की जा सकती है। इसके बाद नल जल योजना की समीक्षा के दौरान पिंडारुच के पंचायत सचिव एवं कनीय अभियंता का वेतन बंद करने तथा स्पष्टीकरण पूछने का निर्देश जिलाधिकारी डॉ सिंह ने दिया। जलवाड़ा के पंचायत सचिव से भी नल जल योजना को प्राथमिकता न देते हुए, गली नाली योजना में जरूरत से अधिक राशि आवंटित करने पर स्पष्टीकरण पूछने का निर्देश दिया। लालगंज तथा पोठिया के पंचायत सचिव का वेतन बंद करने तथा स्पष्टीकरण पूछने का निर्देश दिया। किसी भी आपूर्तिकर्ता द्वारा राशि लेकर कार्य नही करने पर वार्ड क्रियान्वयन एवं प्रबंधन समिति द्वारा नोटिस देने तथा प्राथमिकी दर्ज करने का निर्देश जिला पदाधिकारी ने दिया। छाछा पछाडी के मुखिया द्वारा नल जल एवं प्रधानमंत्री आवास योजना का कार्य अवरुद्ध करने पर कड़ी कार्यवाही करने तथा पदमुक्त करने की कार्यवाही करने का निर्देश जिलाधिकारी ने दिया। दिघीयार पंचायत के मुखिया द्वारा सभी वार्ड में कार्य पूर्ण करने पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए उन्हें सम्मानित करने का भी निर्णय जिला पदाधिकारी ने लिया। हर घर शौचालय योजना की समीक्षा के दौरान जिला पदाधिकारी ने कहा कि जनवरी माह में जिओ टैगिंग तथा भुगतान पर बल दिया जाएगा। कर्जापट्टी एवं सरजापुर के लाभुकों द्वारा शिकायत पर प्रखंड समन्वयक को 15 फरवरी तक भुगतान सुनिश्चित करने का निदेश दिया। जिला पदाधिकारी ने कहा कि बिना किसी सही कारण के ससमय भुगतान नहीं करने पर दोषी के विरुद्ध कड़ी कार्यवाही की जाएगी एवं प्राथमिकी भी दर्ज किया जाएगा। उक्त बैठक में अपर समाहर्त्ता मोबिन अली अंसारी, जिला पंचायती राज पदाधिकारी शत्रुघ्न कामती, प्रखंड के वरीय प्रभारी पुष्पेश कुमार, जन प्रतिनिधि, पंचायत सचिव एवं अन्य कर्मी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here